PM मोदी ने ममता को बताया ‘स्पीडब्रेकर’ दीदी; मां, माटी और मानुष के नाम पर बेवकूफ बनाने का आरोप

0
84

तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी पर बरसते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनावों के शुरुआती दो चरणों के बाद ”स्पीडब्रेकर” दीदी की नींद उड़ गई है। दक्षिण दिनाजपुर जिले में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने मुख्यमंत्री ममता पर ”मां, माटी और मानुष” के नाम पर लोगों को बेवकूफ बनाने का आरोप लगाया।

मोदी ने कहा, ”राज्य में पहले और दूसरे चरण के मतदान के बाद आई खबरों के बाद स्पीडब्रेकर दीदी की नींद उड़ गई है।” ममता का मजाक उड़ाते हुए मोदी ने कहा कि शुरुआत में उनके बारे में राय बनाने में उनसे गलती हुई थी, लेकिन प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्हें तृणमूल सुप्रीमो के ”असली” रंग का पता चला।

मोदी ने कहा, ”मैं जब उन्हें टीवी पर देखता था और फिर समय-समय पर मिलता था, तो मुझे लगा कि वह सादगी, कड़ी मेहनत की प्रतीक हैं और वास्तव में बंगाल के विकास में दिलचस्पी रखती हैं।” प्रधानमंत्री ने कहा, ”लेकिन जब मैं प्रधानमंत्री बन गया और उनकी गतिविधियां देखीं तो मेरी आंखें खुल गईं। मैंने उनके असली रंग को पहचाना। बंगाल के बच्चे भी इस बात को समझ गए हैं।”

मोदी ने कहा कि 23 मई को लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद ममता को पता चल जाएगा कि तोड़फोड़, जनता के धन लूटने और विकास में रोड़े अटकाने का परिणाम क्या होता है। उन्होंने पड़ोसी राष्ट्र बांग्लादेश के नागरिकों को राज्य में तृणमूल कांग्रेस के पक्ष में चुनाव प्रचार करने देने को लेकर भी ममता को कोसा। राज्य में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के पक्ष में बांग्लादेशी अभिनेता फिरदौस द्वारा प्रचार करने के वाकये का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, ”यह शर्मनाक है कि पड़ोसी देश के लोग तृणमूल कांग्रेस के लिए प्रचार कर रहे हैं। पार्टी ने अल्पसंख्यक समुदाय को खुश करने के लिए ऐसा किया।”

मोदी ने कहा, ”भारत में पहले ऐसा कभी नहीं हुआ कि पड़ोसी देश के लोग यहां की किसी पार्टी के लिए चुनाव प्रचार करें।” पाकिस्तान के बालाकोट में हुए हवाई हमलों के सबूत मांगने को लेकर मोदी ने ममता की आलोचना की और उनसे कहा कि वे हवाई हमले के सबूत मांगने की बजाय चिटफंड घोटालों में शामिल लोगों के खिलाफ सबूत जुटाएं। उन्होंने यह भी कहा कि राजग की अगुवाई वाली सरकार की सत्ता में वापसी के बाद सीमा पार से घुसपैठ रोकने के लिए सख्त कदम उठाए जाएंगे।

मोदी ने कहा कि चुनावी नतीजे घोषित होने के बाद ”सीमा पर बाड़” लगाने के काम में अड़ंगा लगाने की कोशिश कर रहे तत्वों को हकीकत का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा, ”23 मई के बाद हम सीमा पार घुसपैठ रोकने के लिए कदम उठाएंगे।” इसके अलावा, मोदी ने कहा कि राजग सरकार शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए प्रतिबद्ध है।”

मोदी ने पूछा, ”विभाजन के दौरान कुछ लोग दूसरे देशों में रह गए थे। लेकिन उनके धर्म और उनकी आस्था के कारण उन्हें उन देशों में जुल्म का सामना करना पड़ रहा है….वे कहां जाएंगे?” उन्होंने कहा कि इन लोगों को बचाना हर भारतीय और सरकार का कर्तव्य है। उन्होंने कहा, ”संसद में नागरिकता विधेयक पारित करना हमारी प्रतिबद्धता है।

मोदी ने कहा कि कुछ राजनीतिक पार्टियां नागरिकता के मुद्दे पर लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रही हैं। उन्होंने कहा, ”चाहे तृणमूल कांग्रेस हो, कांग्रेस हो या वाम मोर्चा हो…वे लोगों को बांटने की राजनीति में लगे हुए हैं। लेकिन हम सभी को साथ लेकर चलने में विश्वास करते हैं।” ममता का मजाक उड़ाते हुए मोदी ने कहा, ”ममता दीदी देश भर में तोलाबाजी (जबरन वसूली) टैक्स मॉडल लागू करना चाहती हैं।”

तृणमूल प्रमुख ममता के भतीजे अभिषेक पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि ”बुआ-भतीजा” ने जिस तरह पश्चिम बंगाल की संस्कृति और लोगों को नीचा दिखाया है वह शर्मनाक है। पुरुलिया जिले में भाजपा के एक कार्यकर्ता की हालिया हत्या पर मोदी ने आश्वस्त किया कि इंसाफ होगा और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here