सोनभद्र और मिर्जापुर में बोले अखिलेश, भाजपा सात साल का हिसाब दे

0
103


दिल्ली की सरकार से सिर्फ पांच साल का ही हिसाब क्यों पूछा जाए। उत्तर प्रदेश की सरकार का भी तो दो साल जोड़िए। इनसे पूरे सात साल का हिसाब लिया जाय। भाजपा की सरकार झूठ और नफरत की दीवार पर बनी है। ये बातें रविवार को राबर्ट्सगंज के हाइडिल मैदान में गठबंधन के की ओर से मैदान में उतरे सपा प्रत्याशी भाईलाल के पक्ष में आयोजित एक जनसभा में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहीं।

उन्होंने जनता से पूछा कि इन पांच सालों में आपको चाय का स्वाद कैसा लगा, जनता की ओर से कोई आवाज आती, उससे पहले ही कहा कि फीकी लगी न। इस पर जनता ने भी जोर से आवाज लगाई। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जलशक्ति मंत्रालय बनाने की योजना पर तंज कसा। कहा कि सोनभद्र के किसानों के लिए बन रही महत्वाकांक्षी कनहर परियोजना के लिए धनराशि दे नहीं पा रहे हैं। अब जलशक्ति मंत्रालय का नया शिगूफा छेड़ दिया है।

मोदी जी कहते हैं कि हमने एयर स्ट्राइक के दौरान एयरफोर्स से कहा कि बादल है। घुस जाओ, रडार की पकड़ में नहीं आएंगे। उन्हें यह नहीं मालूम कि इन पांच सालों में जनता समझदार हो गई है। वह रडार बन गई है। उनके रडार से यह बच नहीं पाएंगे। वोट पड़ेगा तो वह पूरा हिसाब रखेगी। बोले कि भाजपा सरकार के कार्यकाल में सबसे ज्यादा आतंकवाद बढ़ा। देश सबसे ज्यादा असुरक्षित रहा। पिछले चुनाव में मोदी जी कहते थे कि पाकिस्तान हमार एक सैनिक मारेगा तो हम उसके दस सैनिकों के सिर काट लाएंगे। सिर काटने की बजाय वह पाकिस्तान जा कर खीर खा कर आते हैं। अब समय आ गया है कि जनता  चौकीदार की चौकी छीने।

मिर्जापुर में महुअरिया स्थित जीआईसी के मैदान में सपा के उम्मीदवार रामचरित्र निषाद के समर्थन में आयोजित जनसभा में अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तीखा हमला किया। कहा कि पड़ोस में प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र और जिले का सांसद मंत्री होने के बावजूद यहां का अपेक्षित विकास नहीं हो पाया। आदित्यनाथ योगी प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री है जिन्होंने बंगले को गंगाजल से धुलवाया, वर्ना अब तक जितने भी मुख्यमंत्री रहे हैं किसी ने भी ऐसा कार्य नहीं किया।

उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री कहते हैं कि देश का संविधान न होता तो हम गाय-भैंस चरा रहे होते। मुलायम सिंह तीन बार मुख्यमंत्री और केंद्र में रक्षा मंत्री रहे हैं। हम भी प्रदेश के मुख्यमंत्री थे। हम तो गाय-भैंस का घी बेंचकर गुजारा कर लेते पर मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी तो किसी मठ में घंटा बजा रहे होते। प्रधानमंत्री पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी देश को आतंकवाद से मुक्त कराने की बात करते हैं। वर्ष-2014 में बोले थे कि एक सिर के बदले दस सिर लाएंगे पर उनका 56 इंच वाला सीना कहां चला गया। देश के सैकड़ों सैनिकशहीद हो गए। बगैर प्रोटोकाल के पाकिस्तान में खीर खाकर लौट आए, तब उन्हें नहीं याद आई। कहा, वह वाराणसी में एक सैनिक से डर गए और पर्चा खारिज करा दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here