श्रीलंका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए नए गठबंधन की अगुवाई करेंगे विक्रमसिंघे

0
61

श्रीलंका में राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना और प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे के मध्य जारी सत्ता संघर्ष के बीच पांच अगस्त तक विक्रमसिंघे की अगुवाई में एक नया व्यापक राजनीतिक गठबंधन शक्ल लेने जा रहा है जो इस साल के उत्तरार्द्ध में राष्ट्रपति चुनाव लड़ेगा। स्थानीय मीडिया ने ऐसी खबर दी है।

पिछले साल जब राष्ट्रपति ने यूनाइटेड नेशनल पार्टी (यूएनपी) के नेता और प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे को बर्खास्त कर दिया था और पूर्व कद्दावर महिंदा राजपक्षे को प्रधानमंत्री नियुक्त किया था तब एक अप्रत्याशित संवैधानिक संकट खड़ा हो गया था। तब से श्रीलंका राजनीतिक विभाजनों के दलदल में फंसा है।

उच्चतम नयायालय के दखल के बाद विक्रमसिंघे की प्रधानमंत्री की कुर्सी दिसंबर में बहाल कर दी गयी लेकिन सरकार बुरी तरह बंटी हुई है। यूएनपी महासचिव और मंत्री अकिला विराज करियावासम ने रविवार को ‘कोलंबोपेज’ दैनिक से कहा कि उनकी पार्टी राष्ट्रीय सुरक्षा, लोकतंत्र और अर्थव्यवस्था पर आधारित एक बड़े गठबंधन के तहत इस साल बाद में राष्ट्रपति चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि इस संबंध में पांच अगस्त को सहयोगी दलों के साथ एक करार पर दस्तखत किया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री रजीता सेनारत्ने ने शनिवार को मीडिया से कहा था कि नये गठबंधन का नाम डेमोक्रेटिक नेशनल फ्रंट होगा। सिरिसेना 8 जनवरी, 2015 को पांच साल के कार्यकाल के लिए राष्ट्रपति निर्वाचित हुए थे। इससे पहले महिंदा राजपक्षे ने अपने दूसरे कार्यकाल के समापन से दो साल पहले ही राष्ट्रपति चुनाव कराये थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here