रिकॉर्ड 28 दिन में 12वीं का रिजल्ट, गाजियाबाद की हंसिका और मुजफ्फरनगर की करिश्मा ने किया टॉप

0
106

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने गुरुवार को 12वीं परीक्षा का रिजल्ट घोषित कर दिया। 500 में से 499 अंक लाकर पहले स्थान पर दो लड़कियों ने जगह बनाई है। वहीं, तीन लड़कियों ने 500 में से 498 नंबर लाकर दूसरा स्थान हासिल किया है। छात्र अपना रिजल्ट सीबीएसई की ऑफिशियल वेबसाइट cbse.nic.in पर देख सकते हैं। इस साल 12वीं परीक्षा में कुल 12.87 लाख छात्र/छात्राओं ने रजिस्ट्रेशन कराया था। 83.4% बच्चों ने 12वीं बोर्ड की परीक्षा पास की। सबसे ज्यादा त्रिवेंद्रम रीजन में 98.2% बच्चे पास हुए। सीबीएसई ने बताया कि पहली बार परीक्षा खत्म होने के 28 दिन बाद नतीजे घोषित किए गए हैं। 

12वीं के नतीजों में लगातार 5वीं बार लड़कियों ने लड़कों से बाजी मारी है। बोर्ड की परीक्षा में 2014 में आखिरी बार सार्थक अग्रवाल 99.6 प्रतिशत के साथ टॉपर बने थे। इसके बाद से लगातार 5वें साल लड़कियां टॉपर हैं।

टॉप-7  पोजिशन पर लड़कियां 

नंबरस्कूल
हंसिका शुक्ला499/500डीपीएस, मेरठ रोड गाजियाबाद
करिश्मा अरोड़ा499/500एसडी पब्लिक स्कूल, मुजफ्फरनगर
गौरांगी चावला498/500निर्मल आश्रम स्कूल, ऋषिकेश
ऐश्वर्या498/500केंद्रीय विद्यालय, रायबरेली
भव्या498/500बीआरएसके इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल, जींद
आयुषी उपाध्याय497/500लखनऊ पब्लिक स्कूल, लखनऊ
महक तलवार497/500डीपीएस, रोहिणी, नई दिल्ली
पार्थ सैनी497/500सेंट ल्यूक सीनियर सेकेंडरी स्कूल, सोलन
विराज जिंदल497/500वसंत वैली स्कूल, नई दिल्ली

टॉपर हंसिका का सिर्फ अंग्रेजी में एक अंक कटा

सीबीएसई टॉपर हंसिका शुक्ला को पॉलिटिकल साइंस, हिस्ट्री, साइकोलॉजी और वोकल म्यूजिक में 100 में से 100 और इंग्लिश में 100 में से 99 अंक प्राप्त किए। उन्होंने बताया कि, मां चाहती थी कि मैं पॉलिटिकल साइंस की कोचिंग करूं, लेकिन मैंने घर पर रहकर पढ़ाई की। मैं आगे साइकोलॉजी में पढ़ाई करना चाहती हूं। इंडियन फॉरेन सर्विस में जाना चाहती हूं। 

लड़कों से 9% ज्यादा लड़कियां पास हुईं


लड़कियां: 88.7% 

लड़के : 79.4%

ट्रांसजेंडर : 83.3%

रिजल्ट की कुछ खास बातें

  • इस बार 4627 परीक्षा केंद्र, 12.87 लाख विद्यार्थी थे। इनमें से 94,299 छात्र-छात्राओं ने 90% अंक प्राप्त किए। 
  • देशभर में 83.4% विद्यार्थी पास हुए। पिछली बार की तुलना में 0.4% रिजल्ट सुधरा। 
  • विदेश स्थित स्कूलों के नतीजों में भी सुधार हुआ। इस बार 95.43% रिजल्ट रहा, पिछली बार 94.94% था।
  • स्पेशल कैटेगरी में हेरिटेज स्कूल, गुड़गांव की लावण्या बालकृष्णन ने 489 नंबर के साथ पहला स्थान प्राप्त किया है।   

रिजल्ट तैयार करने वाले कर्मचारी 15 दिन घर नहीं गए

सीबीएसई चेयरमैन अनिता कारवाल ने बताया कि बोर्ड के कर्मचारी पिछले 15 दिन से रिजल्ट तैयार करने में जुटे थे। इस बार रिकॉर्ड 28 दिन में रिजल्ट घोषित करने के लिए कर्मचारी घर भी नहीं गए। बोर्ड की परीक्षाएं 4 अप्रैल को खत्म हुई थीं। 2 मई को रिजल्ट घोषित कर दिया गया।

अगली बार से 16 रीजन में होंगी परीक्षाएं

बोर्ड के मुताबिक अगली बार से परीक्षाएं 15 फरवरी से शुरू हो जाएंगी। रिजल्ट इसी तरह मई के पहले हफ्ते में आ जाएगा, ताकि छात्रों को यूनिवर्सिटीज में प्रवेश के लिए पर्याप्त समय मिल सके। अभी 10 रीजन में परीक्षा होती थी, लेकिन अगली बार से कुल 16 रीजन में परीक्षाएं होंगी।

मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने परीक्षा में पहला स्थान पाने वाली हंसिका को बधाई दी।

ऐसे कर सकेंगे रिजल्ट चेक 

  • सीबीएसई की ऑफिशियल वेबसाइट  cbse.nic.in पर जाएं।
  • होमपेज पर दिए गए रिजल्ट के लिंक पर क्लिक करें। एक नया पेज ओपन होगा।
  • नए पेज पर अपना रोल नंबर और कैप्चा कोड डालकर सबमिट करें। 
  • इसके बाद रिजल्ट स्क्रीन पर दिखाई देने लगेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here