प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना तहत प्रशिक्षण केंद्र में संस्था द्वारा दृष्टिबाधित छात्रों से जबरन डरा धमका कर करवाए गए हस्ताक्षर व की मार-पीट

0
128

. दिल्ली :- सवांददाता अनीता गुलेरिया द्वारका से सटे ताजपुर मे एक संस्था द्वारा चल रहा था यह प्रशिक्षण-केंद्र, द्वारका सेक्टर 19 राष्ट्रीय ब्लाइंड होस्टल के छात्र-छात्राएं ले रहे थे कंप्यूटर-प्रशिक्षण । 18 जून को संस्था की संचालिका ने दृष्टिबाधित छात्राओं को प्रशिक्षण-केंद्र में बुलाकर गेट को अंदर से बंद किया । सभी दृष्टिबाधित छात्राओं को किसी दस्तावेज पर जबरन-हस्ताक्षर करवाए गए । छात्रों ने इसका विरोध किया, तो उनसे हाथापाई व जान से मारने की संस्था ने धमकी दी । दृष्टिबाधित- छात्राओं द्वारा घटना की सूचना छात्रावास में देने पर उनके मोबाइल छीन लिए गए । संस्था के बाहर खड़े चार दृष्टिहीन-छात्रो के साथ हुई मार पिटाई व जानलेवा धमकी दी और सारे दृष्टिबाधित-छात्रो की ग्रुप-फोटो खींच प्रधानमंत्री कौशल-विकास योजना तहत छात्रो द्वारा पेपर दिए बिना प्रशिक्षण-केन्द्र के बच्चों के एग्जाम भी दिखा दिए गए । सभी दृष्टिबाधित बच्चों की अब भारत सरकार से मांग राइटर गाइड-लाइंस के जरिए उनके पेपर दिलाए जाए । दृष्टिबाधितो अनुसार उनके नाम का दुरुपयोग मौलिक अधिकारों का हुआ हनन जान से मारने की धमकी के चलते सारे दृष्टिबाधित छात्रों में बना हुआ है खौफ । दृष्टिबाधित छात्रों की सरकार से गुहार इस तरह के संस्थानो की तरफ से आखिर हमारा शोषण कब तक जारी रहेगा । सरकार संजीदगी दिखाते हुए हमारी तरफ कब ध्यान देगी प्रधानमन्त्री कौशल-विकास योजना तहत पीडित दृष्टिबाधित-छात्रो मे से ग्यारह छात्राए शामिल ।दृष्टिबाधित-छात्रो की भारत सरकार से कौशल विकास योजना मे एग्जाम देने की अपील । भारत-सरकार द्वारा आयोजित प्रधानमंत्री कौशल-विकास योजना दिशा-निर्देशों पर उठे सवाल ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here