चीन ने जोर देकर कहा, दलाई लामा के उत्तराधिकारी को लेनी होगी हमारी मंजूरी

0
76

चीन ने बुधवार को जोर देकर कहा कि दलाई लामा के किसी भी उत्तराधिकारी को उसकी मंजूरी लेनी होगी। गौरतलब है कि तिब्बत के 83 वर्षीय आध्यात्मिक नेता को छाती में संक्रमण के कारण भारत के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। नयी दिल्ली स्थित अस्पताल के मुताबिक, उनकी हालत स्थिर है। 

चीन के पास उनका उत्तराधिकारी नियुक्त करने की किसी योजना के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि चीन की केन्द्रीय सरकार पुनर्जन्म प्रणाली के जरिए चुने गये दलाई लामा के उत्तराधिकारी को मंजूरी देगी। उन्होंने कहा, ”मुझे 14 वें (वर्तमान) दलाई लामा की शारीरिक स्थिति के बारे में जानकारी नहीं है।” जहां तक पुनर्जन्म मुद्दे का संबंध है, यह स्पष्ट है कि पुनर्जन्म तिब्बती बौद्ध धर्म की एक विशेष विरासत प्रणाली है। यह तय परंपरा है।

लू ने कहा, ”हमारे पास इस विरासत का सम्मान और सुरक्षा करने के लिए प्रासंगिक नियम हैं। 14 वें दलाई लामा को खुद तय धार्मिक परंपरा के मुताबिक मान्यता मिली और इसे तत्कालीन सरकार से मंजूरी मिली थी।” उन्होंने कहा, ”ऐसे में दलाई लामा को हमारे राष्ट्रीय कानूनों, नियमों और धार्मिक परंपराओं सहित पुनर्जन्म का पालन करना चाहिए।”

नयी दिल्ली में अस्पताल के सूत्रों ने बुधवार को बताया कि तिब्बत के आध्यात्मिक नेता को छाती में संक्रमण के कारण नयी दिल्ली के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया और उनकी हालत स्थिर है। बीजिंग जहां दलाई लामा को तिब्बत को चीन से अलग करने की मांग करने वाला एक अलगाववादी मानता है वहीं 1989 में नोबेल शांति पुरस्कार विजेता का कहना है कि वह धार्मिक स्वतंत्रता और स्वायत्तता सहित तिब्बतियों के लिए केवल वृहत अधिकारों की मांग कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here